नातिन और उसके प्रेमी ने की थी दादी की हत्या ,वजह दोनों को गलत काम करते देख लिया थाशव को 100 मीटर दूर खुले कुएं में फेंका

रायसेन।जिले के सिलवानी थाने के तहत गांधी नगर पड़ान मोहल्ले में रहने वाली एक 18 साल की युवती ने पास ही रहने वाले अपने प्रेमी के साथ मिलकर खुद की दादी धनिया बाई की 11-12 सितंबर की दरमियानी रात हत्या कर दी। हत्या करने के बाद शव को 100 मीटर दूर कुएं में फेंक दिया। युवती और उसका प्रेमी रात को घर में ही गलत काम कर रहे थे। दादी ने उनको गलत काम करते देख लिया था।इसीलिए प्रेम में बाधा बन रही दादी को उसकी नातिन प्रेमी ने उसे मौत के घाट उतार दिया।

बुजुर्ग दादी के सिर में किए कुल्हाड़ी कुदाली से कई वार....

इसके चलते युवती ने कुल्हाड़ी और उसके प्रेमी ने कुदाली से सिर पर वार करके वृद्धा को मौत के घाट उतार दिया। इधर सिलवानी पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी नातिन और उसके प्रेमी रोहित ठाकुर उम्र 20 वर्ष को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया।वहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। एसडीओपी अनिल मौर्य के नेतृत्व में थाना प्रभारी डीपी सिंह सहित पुलिस कर्मियों की टीम जांच पड़ताल के लिए बनाई गई थी। घटना के चौथे दिन शुक्रवार को ही पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इस कार्रवाई में उपनिरीक्षक कविता यादव, सहायक उप निरीक्षक नारायणसिंह, संतोष रघुवंशी सहित पुलिस स्टाफ की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

दादी के कमरे में ही दूसरे पलंग पर सोती थी नातिन ....

अपने घर के एक कमरे में वृद्धा धनिया बाई और नातिन अलग-अलग पलंग पर सोती थीं। 11-12 सितंबर की दरमियानी रात 1.30 से 2 बजे के बीच पास में ही रहने वाला प्रेमी रोहितठाकुर कमरे में पहुंच गया। इसके बाद दोनों उसी कमरे में गलत काम करने लगे। इसी दौरान धनिया बाई जाग गई और दोनों को गलत काम करते देख लिया। इससे दोनों घबरा गए और उन्होंने आनन-फानन में वृद्ध दादी धनियाबाई का मुंह दबाकर उसके सिर पर प्रेमी रोहित ने कुदाली और नातिन ने कुल्हाड़ी से वार किए। इससे धनियाबाई की मौके पर ही मौत हो गई।

कंबल में थे खून के निशान....

 इसलिए शक हुआ धनियाबाई और उसकी हत्या करने वाली नातिन एक ही कमरे में सोती थीं। हत्या को लेकर जब परिजनों ने उससे पूछताछ की तो उसने कुछ भी पता होने से साफ मना कर दिया। कंबल पर खून के निशान मिलने से पुलिस का शक बढ़ता गया।

वहीं दूसरी ओर चाचा लखन कुशवाह की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच में ले लिया। शव का पीएम कराया गया तो सिर में चोट के निशान मिले। इससे भी हत्या की पुष्टि हो गई। परिजनों के बयान के बाद निकिता पर शक बढ़ता गया और पुलिस ने उससे कड़ी पूछताछ शुरू कर दी। इसके बाद हत्या की कहानी सामने आ गई। दोनों आरोपियों के परिवार मजदूरी करके ही जीवन यापन करते हैं।

भागने की फिराक में थे दोनों आरोपी .....

सिलवानी थाना प्रभारी डीपी सिंह के मुताबिक परिजनों ने बताया कि आरोपी नातिन अपना बैग लेकर भागने की फिराक में है तो पुलिस सक्रिय हो गई। इसके बाद दोनों को बस स्टैंड के आगे बरेली रोड से घेराबंदी करके गिरफ्तार किया गया। इस दौरान दोनों बैग भी लिए हुए थे। वहीं हत्या के साक्ष्य जुटाने के लिए पुलिस ने कुएं को खाली कराया। इसके बाद कुएं से हत्या में उपयोग की गई कुदाली ,कुल्हाड़ी व भी निकाल ली, जबकि कुल्हाड़ी कमरे से ही बरामद कर ली गई थी।

तहलका न्यूज़ चैनल रायसेन के लिए जिला ब्यूरो चीफ शिवलाल यादव की रिपोर्ट....