सीबीएसई विद्यार्थियों के पेपर में बढ़ेंगे वस्तुनिष्ठ प्रश्न, वस्तुनिष्ठ में केस स्टडी आधारित प्रश्न पूछे जाएंगे,छात्र छात्राओं की पढ़ाई की होगी राह आसान

सीबीएसई विद्यार्थियों के पेपर में बढ़ेंगे वस्तुनिष्ठ प्रश्न, वस्तुनिष्ठ में केस स्टडी आधारित प्रश्न पूछे जाएंगे,छात्र छात्राओं की पढ़ाई की होगी राह आसान

रायसेन।सीबीएसई के 10वीं और 12वीं बोर्ड के छात्रों के लिए बड़ी अपडेट सामने आई है। जिसके तहत बच्चों को पेपर हल करने में काफी आसानी होगी। सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2024 के लिए मूल्यांकन योजना में बदलाव करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसमें बहुविकल्पीय प्रश्न पर अधिक ध्यान केंद्रित किया जाएगा ।जिससे छात्रों के लिए परीक्षा की तैयारी करना और आसान हो जाएगा। परीक्षा के प्रश्नों को हल करने में छात्रों को बड़ी मदद मिलेगी।

बदलाव करने की तैयारी....

डीईओ एमएल राठौरिया ने बताया कि सीबीएसई 10वीं और 12वीं के मूल्यांकन वेटेज में बदलाव की तैयारी की जा रही है। लघु और दीर्घ उत्तरीय प्रश्नों को दिए गए वेटेज में कमी की जाएगी। जबकि बहुविकल्पीय प्रश्न एमसीक्यू पर अधिक ध्यान केंद्रित किया जाएगा। कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षा में आधारित प्रश्न योग्यता आधारित होंगे। जिसमें बहुविकल्पीय प्रश्न सहित केस आधारित प्रश्न, स्रोत आधारित एकीकृत प्रश्न और अन्य प्रारूप के प्रश्न शामिल रहेंगे। जानकारी के मुताबिक पिछले शैक्षणिक सत्र में इस प्रकार के प्रश्नों के वेटेज 40 प्रतिशत हैं। वहीं इस ग्रेड स्तर के लिए वस्तुनिष्ठ प्रश्न विशेष रूप से वस्तुनिष्ठ के रूप में निर्धारित होंगे। जिनका कुल वेटेज 20 प्रतिशत होगा। जबकि लघु उत्तर और दीर्घ उत्तर वाले प्रश्नों के वेटेज को 40 से घटाकर 30 प्रतिशत करने की तैयारी विभाग द्वारा चल रही है।

पूछे जाएंगे 20 वस्तुनिष्ठ प्रश्न....

सीबीएसई 2023 से 24 के शैक्षणिक सत्र में कक्षा 9वीं, 10वीं, 11वीं, 12वीं के लिए 20% वस्तुनिष्ठ आधारित प्रश्न को जोड़े जाने की तैयारी कर रही है। कक्षा नौवीं और दसवीं के लिए बोर्ड परीक्षा 2024 में 50 फीसदी प्रश्न वस्तुनिष्ठ होंगे। 11वीं-12वीं के लिए बोर्ड परीक्षा 2024 के लिए वस्तुनिष्ठ के रूप में योग्यता आधारित प्रश्न, स्रोत आधारित और केस आधारित प्रश्न के हिस्से 40 फीसदी होंगे।

सीबीएसई बोर्ड में कक्षा दसवीं के संशोधित पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न 2024 के अनुसार कक्षा 9वीं तथा 10वीं के बोर्ड परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रश्नों की संख्या वस्तुनिष्ठ के रूप में होंगे। परीक्षा में 50% प्रश्न योग्यता आधारित होंगे और शैक्षणिक पत्र 2022-23 के प्रश्नों के 30% हिस्सा ही शामिल किया जाएगा।