रायसेन रोड़ नहीं तो वोट नहीं...... सड़क समस्या से परेशान महिलाओं ने जनसुनवाई में कलेक्टर को आवेदन देकर दी मतदान के बहिष्कार की चेतावनी

रायसेन।जहां एक तरफ भारत निर्वाचन आयोग चुनावों में शासन प्रशासन द्वारा स्वीप कार्यक्रम चलाकर शत प्रतिशत मतदान कराने के लिए वोटरों को जागरूक किया जा रहा है।वहीं दूसरी तरफ जिले के साँची अजा विधानसभा सीट के दर्जनों गांवों के कई मजरे टोले समेत गांव एप्रोच रोड़ की समस्या से जूझ रहे हैं।बारिश में सड़क विहीन इन गांवों के ग्रामीणजन सड़क निर्माण कराए जाने की मांग को लेकर मंगलवार को कलेक्ट्रेट में आयोजित जनसुनवाई में ग्रामीण क्षेत्र की सैकड़ों महिलाएं पुरुष युवा कलेक्टर अरविंद दुबे को आवेदन देकर अपनी मांगें पूरी करने को कहा है।उन्होंने बीजेपी के सांसद रमाकांत भार्गव, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी, जिले के प्रभारी एवं सहकारिता मंत्री डॉ अरविंद भदौरिया को भी ज्ञापन दे चुके हैं।जनप्रतिनिधियों ने भी उनकी सड़क की जटिल समस्या को हल नहीं कराया है।सड़क समस्या से परेशान महिलाओं ग्रामीणजनों सहित युवाओं ने रोड़ नहीं.... तो वोट नहीं के नारे बुलन्द कर आगामी विधानसभा चुनाव 2023,लोकसभा चुनाव 2024 के बहिष्कार करने की चेतावनी दी है।

स्थानीय जनप्रतिनिधियों पर लगे मनमानी लापरवाही के आरोप....

    साँची ब्लॉक की ग्राम पंचायत मेढ़की के अंतर्गत आने वाले भोई कालोनी कटसारी,रतनपुर बुद्धा बेसर कालोनी सहित दुर्ग पुरा करपाट आदि गांव सालों से सड़क विहीन पड़े हुए हैं।इन गांवों का मप्र विधानसभा में नेतृत्व स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी करते हैं।इसके अलावा विदिशा रायसेन व लोकसभा सीट के भाजपा सांसद रमाकांत भार्गव,गांवों की सरकार के जिपं अध्यक्ष यशवंत बब्लू मीणा जिले के प्रभारी मंत्री डॉ अरविंद भदौरिया की भी कर्मस्थली है।मेढ़की की सरला देवी शकुन बाई बेसर कॉलोनी के रामदयाल प्रताप सिंह महेंद्र रुद्र सिंह पटेल आदि ने बताया कि हमने सड़क निर्माण जल्द कराए जाने की मांग स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी, जिपं अध्यक्ष यशवंत मीणा जनपद पंचायत साँची की अध्यक्ष अर्चना सुनील पोर्ते से भी की लेकिन नतीजा सिफर निकला है।उन्होंने बताया कि हमारे स्कूल पढ़ाई करने जाने वाले नौनिहालों को बारिश के चलते घुटनों कीचड़ भरे दलदल में से होकर आने जाने को मजबूर हैं।कई दफे तो स्कूल के बच्चे इस कीचड़ दलदल में गिरकर यूनिफार्म गंदे कर लेते हैं।ग्रामीणजनों को भी कीचड़ भरे रास्ते से ही आवागमन करने के लिए विवश होना पड़ रहा है।सड़क विहीन करपाट दुर्गपुरा के बंजारा समुदाय की महिलाओं ने जनप्रतिनिधियों पर नाराजगी जताते हुए मनमानी के आरोप लगाए हैं।उन्होंने अपनी पीड़ा बयां करते हुए बताया कि लोकसभा, विधानसभा सहित अन्य चुनावों में वोट मांगने आते हैं ।चुनाव जीतने के बाद उनकी समस्याओं के निराकरण करने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखते।मेढ़की, बेसर कालोनी भोई कालोनी दुर्गपुरा करपाट आदि गांवों के ग्रामीणजनों ने बताया कि सैकड़ों गांवों में ग्रामीण जल जीवन मिशन योजना के तहत गांवों में घर घर नलों में टोंटी लगाकर स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराया जा रहा है।ऐसे में हमारे गांवों के साथ आखिर सौतेला व्यवहार क्यों किया जा रहा है।मजबूरी में बरसात के इस मौसम में नदी नालों का गंदा पानी पीने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

तहलका न्यूज़ चैनल रायसेन के लिए जिला ब्यूरो चीफ शिवलाल यादव की ग्राउण्ड रिपोर्ट.....