मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया देश की पहली सोलर सिटी सांची का लोकार्पण, प्रधानमंत्री की परिकल्पना को साकार करने पर सांची की जनता का माना आभार,मानवता का संदेश के बाद सांची स्वच्छ ऊर्जा का दुनिया को संदेश भी देगी,स्वास्थ्य मंत्री ने मुख्यमंत्री के सामने रखीं मांगें, सीएम ने मंच से घोषणा कर लगाई सौगात की झड़ी

रायसेन।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोलर सिटी की परिकल्पना को साकार करने के लिए सांची वासियों का आभार किया।उन्होंने इसे देश की बड़ी उपलब्धि बताते हुए कहा कि दुनिया को मानवता का संदेश देने वाली भगवान बुद्ध की नगरी सांची एक बार फिर दुनिया को सौर ऊर्जा यानि स्वच्छ ऊर्जा का संदेश देकर पर्यावरण बचाने की राह दिखाएगी। मुख्यमंत्री चौहान ने बुधवार की शाम रिमोट का बटन दबाकर 

रायसेन जिले के देश की पहली सांची सोलर सिटी का लोकार्पण कर नागरिकों को संबोधित किया। इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्री डा प्रभुराम चौधरी ,मनोज कटारे जेपी किरार बीजेपी जिलाध्यक्ष राकेश शर्मा नरेंद्र सिंह कुशवाह मलखान सिंह मीणा दातार सिंह मीणा जिपं अध्यक्ष यशवंत बबलू मीणा एस मुनियन, अशोक ठाकुर, ब्रजेश चतुर्वेदी राजेन्द्र राज मीणा,नगर परिषद साँची के अध्यक्ष रेवाराम पप्पू अहिरवार बलराम मालवीय नगर मण्डल रायसेन के अध्यक्ष आदित्य जीतू शर्मा सोनू मीणा,सहित अन्य जनप्रतिनिधि ,कलेक्टर अरविंद दुबे एसपी विकाश कुमार शाहवाल, जिपं सीईओ अंजू पवन भदौरिया, चेतन सिंह सोलंकी सारांश वाजपेयी, संजय द्विवेदी प्रोफेसर आशीष गर्ग कानपुर शामिल थे।कार्यक्रम में विदिशा सांसद रमाकांत भार्गव भोजपुर विधायक सुरेंद्र पटवा सहितजिले के प्रभारी मंत्री डॉ अरविंद भदौरिया केबिनेट मंत्री रामपाल सिंह राजपूत ने कार्यक्रम से दूरियां बनाई रखीं।

आमखेड़ा के खेल स्टेडियम में आयोजित सोलर सिटी साँची के लोकार्पण कार्यक्रम मुख्यमंत्री 

चौहान ने रायसेन जिला मुख्यालय पर मेडिकल कालेज स्वीकृत करने की घोषणा की। उन्होंने सलामतपुर में अगले शिक्षण सत्र में सीएम राइज स्कूल, जिला पंचायत रायसेन और नगर पंचायत सांची का नया भवन के अलावा, महाराणा प्रताप जी की प्रतिमा की स्थापना, अहिरवार समाज की धर्मशाला सहित अधूरी दो सड़को के निर्माण की घोषणा की।मालूम हो कि उक्त मांगें साँची के भाजपा विधायक व स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के समक्ष रखी थी।जिस पर सीएम चौहान ने मुहर लगाई।

बहनों की जिंदगी बदलना लक्ष्य 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लाडली बहनों को सितम्बर की 10 तारीख को एक हजार रुपए पुन खाते में आने और अक्तूबर से हर माह 1250 रुपए खाते में भेजे जाने का उल्लेख करते हुए कहा कि बहने चिंता न करे वे उनकी हर दिख दर्द दूर कर बहनों के चेहरे पर खुशियां लाएंगे।जब मुख्यमंत्री चौहान मंच से भाषण दे रहे थे।तभी उनकी लाड़ली बहनें मंच छोड़कर घर की तरफ रवानगी डाल रही थी।

 किसान चिंता न करें,संकट से उभार 

कर ले जायेंगे ....

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि सूरज हमारे सौर मण्डल का केन्द्र बिन्दु है। सूरज सृष्टि का आधार है। सूरज ना हो तो, जीवन ना हो। बारिश भी सूरज की वजह से होती है। पिछले कुछ दिनों से बारिश नहीं हो रही थी, लेकिन अब एक बार फिर बारिश शुरू हो गई है। उन्होंने कहा कि किसी प्रकार की संकट की घड़ी उत्पन्न होने पर वह किसानों को संकट की घड़ी से निकालकर बाहर ले जाएंगे।

देश की पहली सोलर सिटी बनी सांची .....

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आज अत्यंत गौरव का विषय है कि देश का पहला शहर सांची है जो सोलर सिटी घोषित हो रहा है। हमें बिजली की जितनी जरूरत है, उसे हम सूरज से बनाकर पूरी करेंगे। कोयले की बिजली, पेट्रोल-डीजल की बिजली के अंधाधुंध उपयोग के कारण प्रकृति पर बड़ा दुष्प्रभाव पड़ा है। हम सभी का कल्याण इसी में है कि हम सूरज से ऊर्जा बनाकर उसका उपयोग करें। सूरज बारह महीने चमकता ह।, इससे ऊर्जा बनाकर हम अपनी जरूरतों को पूरा कर लेंगे और प्रकृति को भी नुकसान नहीं होगा।मुख्यमंत्री ने कहा कि इस धरती को बचाने के लिए पर्यावरण बचाना जरूरी है और पर्यावरण बचाने के लिए हम सौर ऊर्जा का उपयोग करें। साथ ही अधिक से अधिक पेड़ लगाएं। उन्होंने कहा कि मैं सांची को बधाई देना चाहता हूॅ कि पहले नागौरी में तीन मेगावाट का सोलर पावर प्लांट लगाया और अब पांच मेगावाट का सौर ऊर्जा का पावर प्लांट लग रहा है। सांची नगर में सात हजार नगरवासियों ने ऊर्जा बचत और सौर ऊर्जा के उपयोग के प्रति प्रतिबद्धता जताई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सांची सोलर सिटी बनने से हर साल लगभग 13747 टन कार्बन डाई ऑक्साइड के उत्सर्जन में कमी आएगी जो कि लगभग 2.3 लाख वयस्क वृक्षों के समान है। सांची में सभी शासकीय संस्थानों की एनर्जी ऑडिट एवं ऊर्जा दक्ष उपकरणों के माध्यम से सालाना 63,367 किलोग्राम कार्बन डाई ऑक्साइड उत्सर्जन में बचत होगी। यहां सभी शासकीय भवनों एवं घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 235 किलोवॉट के रूफटॉप सोलर संयंत्रों की स्थापना की गई है।

बौद्ध स्तूपों से प्रसिद्ध सांची अब देश की पहली सोलर सिटी के रूप में भी जानी जाएगी- स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी

कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने सांची को देश की पहली सोलर सिटी होने का गौरव प्रदान करने के लिए सांची और रायसेन जिले के सभी नागरिकों की ओर से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का स्वागत करते हुए कहा कि अभी तक सांची दुनिया में बौद्ध स्तूप के नाम से जानी जाती थी, अब देश की पहली सोलर सिटी के नाम से भी जानी जाएगी। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने कहा कि सांची, हमारे यशस्वी मुख्यमंत्री के दिल में है। मुख्यमंत्री चौहान ने सांची क्षेत्र में विकास की गंगा बहाई है। सांची में 10 करोड़ रू से अस्पताल बनकर तैयार हो रहा है। नवीन तहसील कार्यालय भवन बनकर तैयार हो गया है। सीएम राईज स्कूल बनकर तैयार हो गया है। सांची में पेयजल के लिए भी 15 करोड़ रू भी स्वीकृत किए हैं। आज मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में जिस प्रकार प्रदेश में गरीब कल्याण की योजनाओं का क्रियान्वयन हो रहा है। बच्चों के लिए, युवाओं के लिए, महिलाओं के लिए, किसानों के लिए काम किए जा रहे हैं। उनसे हमारा प्रदेश तेजी से प्रगति के पथ पर अग्रसर है।

मुख्यमंत्री ने सांची स्तूप परिसर में व्यू प्वाइंट से सोलर प्लांट का किया अवलोकन....

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज सांची स्तूप परिसर में व्यू प्वाइंट से नागौरी हिल्स में स्थापित किए गए सोलर प्लांट का अवलोकन कर जानकारी प्राप्त की। प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा उन्हें सांची सोलर प्लांट की विस्तृत जानकारी से अवगत कराया गया। इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण विभाग के मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी समेत अन्य जनप्रतिनिधियों के अलावा प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।

 मुख्यमंत्री चौहान जैसे ही सांची स्तूप की परिधि में पहुंचते ही बैटरी चलित ई-रिक्शा में सवार होकर सांची स्तूप परिसर में बनाए गए व्यू प्वाइंट से नागौरी हिल्स में स्थापित सांची सोलर प्लांट का अवलोकन किया। सांची सोलर सिटी के लिए ग्राम नागौरी में स्थापित सोलर प्लांट से बिजली प्राप्त होने लगी है।