पहले बरेली के पूर्व भाजपा विधायक भगवत सिंह पटेल की संदिग्ध मौत और अब उनके ड्राइवर की भी संदिग्ध हालत में मौत से पुलिस के सामने चुनौती खड़ी हुई

पहले बरेली के पूर्व भाजपा विधायक भगवत सिंह पटेल की संदिग्ध मौत और अब उनके ड्राइवर की भी संदिग्ध हालत में मौत से पुलिस के सामने चुनौती खड़ी हुई

रायसेन।बरेली के तीन बार पूर्व में भाजपा के विधायक चुने गए भगवत सिंह पटेल उम्र 87 वर्ष की बरेली स्थित घर में ही संदिध मौत चार रोज पहले हो गई थी।इसके बाद उनके ड्राइवर छोटे उर्फ बिहारी केवट का शव संदिग्ध अवस्था में फांसी के फंदे पर नर्मदा नदी घाट मांगरोल में लटका मिला।

। दोनों मामलों का जुड़ना लाजमी है। जनचर्चा है कि पूर्व विधायक पटेल की मौत के बाद पुलिस ने बिहारी केवट के बयान लिए थे।लेकिन उसे पूछताछ के बाद छोड़ दिया था। जांच आगे बढ़ाने के लिए पुलिस पीएम रिपोर्ट का इंतजार कर रही थी।चौथे दिन निज वाहन चालक केवटका शव फांसी पर संदिग्ध परिस्थितियों में लटका मिला था।

इनका कहना है....

 फोरेंसिक जांच के साथ उसके शव की पीएम गांधी मेडिकल कालेज भोपाल में गठित डॉक्टरों की टीम से कराया गया।पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।विकाश कुमार शाहवाल, एसपी रायसेन

मामला कहीं करोड़ों संपत्ति का तो नहीं? .....

 मामला कहीं करोड़ों की चल अचल संपत्ति का तो नहीं? बरेली नगर में यह जनचर्चा है कि पहले पूर्व विधायक पटेल की मौत, बाद में ड्राइवर की संदिग्ध मौत के पीछे संपत्ति का राज तोनहीं है।पूर्व एमएलए पटेल बरेली के मकान में चालक सहित नौकरों के साथ रहते थे।उनकी तीनों बेटियों के विवाह हो चुके हैं।पूर्व विधायक पटेल ने कुछ दिनों पहले राजधानी भोपाल के करोड़ों का मकान भी बेचा था।उनके पास नकदी सहित सोना चांदी के जेवर अचल संपत्तियां भी है।मौत के समय से ही उनकी लायसेंसी पिस्टल भी गायब है। बरेली थाना पुलिस इस मामले की गहनता से जांच पड़ताल कर रही है।