लाडली बहना योजना के पैसे के लिए एक शहर से दूसरे शहर भटकती महिलाए

लाडली बहना योजना के पैसे DBT के मध्यम से मध्यप्रदेश शासन द्वारा हितग्रहियो के खाते में डाले गए है DBT से डालने के उद्देश्य है की पैसा सीधा हितग्राही के खाते में डाले जिस से कोई बीच में राशि बचा ना पाए।

लेकिन कई महिलाओं के लिए DBT परेशानी का कारण बन गई है महिलाओं ने DBT के लिए NPCI के फॉर्म बैंको में भरे थे लेकिन बैंको में DBT करने के लिए अगर पुरानी DBT चालू हो तो नई DBT नही होती है उसके लिए पुरानी बैंक की DBT दर्शानी पड़ती है अन्यथा DBT linking अनुरोध NPCI द्वारा रिजेक्ट कर दिया जाता है

यही समस्या रायसेन की उन 15-25% महिलाओं के साथ हुई जिन्होंने अपना जीवन यापन करने के लिए स्व सहायता समूह से लोन लिया था सालो पहले उनके खाते RBL bank, HDFC Bank or IDFC bank में खोल दिए गए जिनकी उनको जानकारी नहीं दी और उसमे उनकी DBT भी समूह संचालकों ने कर दी जिस से उनका शासन की योजनाओ का पैसा उनके उस समूह वाले खाते में जाता रहा अब जब महिलाओं का लाडली बहना का पैसा आया तो महिलाओं को पोर्टल के माध्यम से पता चला की उनका खाता उस बैंक में है जिसकी ब्रांच रायसेन में नही है और वाह खाते से पैसे निकलवाने ग्राहक सेवा केंद्र जाती है तो उनका खाता फ्रीज हो चुका है उसकी रसीद उनको प्राप्त होती है और जब वाह रायसेन HDFC ब्रांच जाती है तो बैंक कर्मचारी उनको बोल देते है की आपका खाता हमारी रायसेन ब्रांच में नहीं है आपका खाता विदिशा ब्रांच में है और बाकी RBL और IDFC bank के खाते के लिए भी भोपाल जाना पड़ता है एक दिन पहले टोकन लेना पड़ रहा है उसके दूसरे दिन खाता अनफ्रीज बैंक में मशक्कत करने के बाद होता है लेकिन उसके बाद अगर अनफ्रीज़ खाता नही होता तो दोबारा भोपाल या विदिशा ही जाना पड़ता है इस कड़ी मशक्कत से हार मान कर कुछ महिलाए मायूस है और अपने पैसे ना निकलवाने का वाह बोल चुकी है की अब वाह भोपाल नही जा सकती

अत: हमारे चैनल के माध्यम से प्रशासन से यही विनती है की जो बैंक्स रायसेन में 500से ज्यादा खाते खोल कर चली गई है उनकी रायसेन में या तो ब्रांच या मिनी ब्रांच आए अन्यथा कोई एक विभाग में महिलाओं के खाते unfreeze कराने और KYC सत्यापित करने की व्यवस्था की जाए जो की बैंक BC की ID के मध्यम से संभव है 

बैंक जिनके समूह वाले 0 बैलेंस खाते रायसेन में ज्यादा है RBL bank और IDFC First bank 

और जो HDFC bank के खाते है जिन पर पता रायसेन का लिखा हुआ है उन सभी खाते को रायसेन HDFC ब्रांच में ट्रांसफर करने हेतु बैंक को Lead bank अधिकारी द्वारा लेटर इश्यू किया जाए जिस से गरीब बेसहारा महिलाए अपना योजनाओ का पैसा निकाल पाए