जल संसाधन और मछुआ कल्याण मंत्री तुलसीराम सिलावट ने हलाली डैम पहुंचकर की सम्राट अशोक सागर परियोजना के प्रगतिरत कार्य की समीक्षा,

30 करोड़ की परियोजना से 2100 से अधिक अन्नदाताओं को मिलेगा फायदा , अतिवृष्टि होने पर भी नहीं डूबेगी 2400 हेक्टेयर कृषि भूमि

जल संसाधन और मछुआ कल्याण मंत्री  तुलसीराम सिलावट ने हलाली डैम पहुंचकर की सम्राट अशोक सागर परियोजना के प्रगतिरत कार्य की समीक्षा,

रायसेन।प्रदेश के जल संसाधन एवं मछुआ कल्याण विभाग मंत्री तुलसीराम सिलावट द्वारा आज हलाली डैम पहुंचकर सम्राट अशोक सागर परियोजना के प्रगतिरत कार्यों की समीक्षा की गई। मंत्री सिलावट द्वारा अधिकारियों की उपस्थिति में गेटवे स्पिलवे कार्य का निरीक्षण किया गया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इस परियोजना के बहुआयामी लाभ होंगे। परियोजना से भोपाल जिले की बेरसिया व हुजूर तहसील के लगभग 21 ग्राम, रायसेन जिले के 3 ग्राम, विदिशा जिले के 3 ग्रामों में रहने वाले लगभग 2100 अन्नदाताओं की 2400 हेक्टेयर कृषि भूमि को अतिवृष्टि के समय बाढ़ की स्थिति से स्थाई निदान प्राप्त होगा और यह सभी लाभान्वित होने वाले अन्नदाता अतिवृष्टि के समय भी बोवनी कर सकेंगे। यह प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान तथा जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट द्वारा स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी के विशेष प्रयासों से 27 ग्रामों के 2100 से अधिक किसानों को दी गई बड़ी सौगात है।

इस प्रकार लगभग ₹30 करोड़ रुपए लागत वाली इस परियोजना से रायसेन सहित 3 जिलों के लगभग 2100 अन्नदाता लाभान्वित होंगे। मंत्री सिलावट ने यह भी कहा कि यह परियोजना मुख्यमंत्री श शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा प्रदेश के अन्नदाताओं की खुशहाली के लिए किए जा रहे प्रयासों का परिणाम है। इस परियोजना का लोकार्पण आगामी 13 अगस्त 2023 को प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से कराये जाने की बात मंत्री सिलावट द्वारा कही गयी। इस अवसर पर बैरसिया विधायक विष्णु खत्री, जनप्रतिनिधि केदार सिंह मंडलोई, विक्रम रघुवंशी, मुख्य अभियंता जल संसाधन जेएस कुशरे, एसडीएम श्री मुकेश सिंह, अधीक्षण यंत्री भीम सिंह मोहनिया, कार्यपालन यंत्री रमेश चौहान तथा एसडीओ जल संसाधन बीके बागुल्या ठेकेदार अश्वनी त्रिपाठी, सहित अन्य अधिकारी और गणमान्य नागरिक भी उपस्थित रहे।