सातवें आसमान पर पहुंचा टमाटर के दाम:आवक कम और मांग ज्यादा होने से बढ़े सब्जियों के दाम, पहली बार 200 रुपए किलो तक बिका टमाटर

सातवें आसमान पर पहुंचा टमाटर के दाम:आवक कम और मांग ज्यादा होने से बढ़े सब्जियों के दाम, पहली बार 200 रुपए किलो तक बिका टमाटर

रायसेन।रायसेन शहर में वैवाहिक सीजन होने से सब्जियों की मांग अधिक है और आवक कम हो रही है। जिस से थोक और फुटकर बाजार में सब्जियों के दाम हर दिन बढ़ रहे है। हालत यह है कि लोगों को सब्जियों की खरीदी के लिए जहां मनमाने दाम चुकाने पड़ रहे हैं।वहीं कई सब्जियों के दाम सुनकर स्वाद की अपनी इच्छाओं पर नियंत्रण करना पड़ रहा है। लाल टमाटर के दाम रायसेन की थोक सब्जी मंडी में पहली बार 150 रुपये से लेकर 200 रुपए किलो तक पहुंचें। वही गिलकी आलू सहित अन्य सब्जियों के दाम भी 4 गुना हो चुके हैं।

थोक और फुटकर बाजार में सब्जी उत्पादक किसान और व्यापारी सब्जियों की कम आवक की वजह भीषण गर्मी एवं राजस्थान में आई बाढ़ बता रहे हैं। कई स्थानों पर तेज धूप की वजह से सब्जी और फसलों की नुकसान होने की बात भी सब्जी उत्पादक कर रहे हैं।सब्जी आढ़तिया तूफान शैतान सिंह यादव हनीफ रा इन कालूराम खत्री राजेश पंथी पहलवान मूलचंद कुशवाहा ने बताया कि रायसेन शहर सहित

जिले में बड़े स्तर पर हरी और अन्य सब्जियों की आवक ग्रामीण क्षेत्र से होती है। वहीं पड़ोसी जिले विदिशा राजधानी भोपाल सागर जिले के गांव-कस्बों से भी सब्जी की आवक होती है। लोगों को अच्छी आवक होने से सब्जियां किफायती दामों पर मिल जाती थीं।

बारिश लगते ही सब्जियां होती है महंगी.....

थोक सब्जी दुकानदारों का कहना है कि इस समय सीजन के कारण बाजार में सब्जियों की मांग बढ़ी है तो दाम भी तेजी से बढ़ रहे हैं। जो लोग पहले 50 से 100 रूपए के अंदर अपनी जरुरत अनुसार हरी और अन्य सब्जियों की खरीदी कर लेते थे ।उन्हें अब 120,150-200 रूपए किलोग्राम तक चुकाने पड़ रहे हैं। उसके बाद भी न तो सब्जियां ताजी मिल पा रही हैं और न ही उनमें स्वाद मिल रहा है।

यह हैं सब्जी के दामों की स्थिति....

फुटकर सब्जी बाजार में विक्रेता काशी बाई रैकवार ,लाल सिंह कुशवाह हनीफ मंसूरी ने बताया कि सभी सब्जियों के दाम बढ़े हुए है। लौकी 30 रूपए प्रति किलो, आलू 20 रूपए प्रति किलो, प्याज 15 से 20 रुपए प्रति किलो, टमाटर 150 से 200 रुपए प्रति किलो, भिंडी 60 रुपए किलो, गिलकी 60 से 80 रुपए किलो, मैथी की भाजी 60 रूपए पालक की गडड़ी 10 रुपये प्रति बिक रही है। जबकि हरी मिर्च जिसकी आवक बेहद कम हो रही है वह 10 से 15 रूपए में 100 ग्राम मिल रही है।इस तरह हरी मिर्च भी 100 से 129 रुपये प्रति किलो बिक रही है।